29713 किसानों को 207 करोड़ रुपए फसल ऋण मोचन योजना के तहत अब तक मिल चुका है लाभःशाही
February 8, 2020 • MOHD. IQBAL HASAN
-उक्त अतिरिक्त जनपद शामली में 16 सोलर पंप किसानों को दिए गए 19 ट्रैक्टर 
शामली। सरदार बल्लभ भाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय मेरठ के अंतर्गत कृषि विज्ञान केंद्र शामली हेतु प्रशासनिक भवन निर्माण लागत 133.49 लाख क्षेत्रफल 15 हेक्टेयर शिलान्यास कार्यक्रम के अवसर पर मुख्य अतिथि के रुप में पहुंचे मंत्री कृषि सूर्य प्रताप शाही,कृषि शिक्षा एवं अनुसंधान उत्तर प्रदेश द्वारा सर्वप्रथम पूजन एवं शिलान्यास किया गया। उसके उपरांत कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही, गन्ना मंत्री सुरेश राणा, कैराना सांसद प्रदीप चौधरी, विधायक तेजेंद्र निर्वाल का सर पर पगड़ी पहनाकर स्वागत किया गया। 
https://www.youtube.com/channel/UCgHZiZxL1uB9c1yRAKs0_Mw
         इसके बाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने उपस्थित किसानों के दूरदराज से आए प्रधानों को संबोधित करते हुए कहा कि मेहनतकश अन्नदाता यह सौभाग्य की बात है कि जनपद शामली में आज कृषि विज्ञान केंद्र का शिलान्यास किया गया। कृषि विज्ञान केंद्र के बनने से कृषि और किसान दोनों को इसका लाभ होगा। कृषि मंत्री ने कहा कि मेरठ मंडल और सहारनपुर मंडल के किसान तो वैसे भी परिश्रमी हैं क्योंकि सर्वाधिक उत्पादकता में यदि नाम आता है तो उत्तर प्रदेश के जनपद बागपत का प्रथम स्थान पर आता है।इसलिए नए-नए तरीके अपनाकर अच्छी आमदनी कैसी हो इसकी जानकारी जुटाने का काम यह कृषि विज्ञान केंद्र करेगा और वैज्ञानिकों द्वारा विभिन्न प्रकार की जानकारी दी जाएगी जिससे पैदावार अच्छी होगी और किसानों की आमदनी दोगुनी होगी। 
      कृषि मंत्री ने कहा कि 70 साल में पहली बार ऐसा हुआ कि पी.एम किसान सम्मान निधि में शामली में 70 करोड़ 88 लाख रुपए का लाभ दिया गया है। उन्होंने कहा कि मिलियन फार्मर पाठशाला के माध्यम से भी किसानों को प्रशिक्षित के जाने का काम किया जा रहा है उन्होंने कहा कि पहले खाद के लिए भी लाइन में लगना पड़ता था परंतु आप लाइन में नहीं लगेगी नहरों में पानी पर्याप्त मिलेगा बिजली 16 घंटे मिलेगी।कृषि मंत्री ने कहा कि पहली सरकारों में गोदामों पर खड़ा रहना पड़ता था इसके अतिरिक्त कृषि मंत्री ने किसानों को विभिन्न प्रकार की तकनीकोंयो के माध्यम से कैसे आय दोगुनी हो की विस्तृत जानकारी दी।कृषि मंत्री ने कहा कि फसल चक्र को को अपनाये और जैविक खेती के साथ-साथ तकनीकी इस्तेमालो के माध्यम से आगे बढ़े उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार व प्रदेश सरकार सबको हित में लेते हुए सबका साथ सबका विकास और सबके विश्वास के साथ कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि हर न्यायपंचायत पर किसानों को प्रशिक्षित किया जाएगा।कृषि मंत्री ने किसानों से कहा कि जैविक खेती कर धरती माता को बीमार होने से बचाए।
        विशिष्ट अतिथि के रूप में गन्ना मंत्री सुरेश राणा ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि कृषि विज्ञान केंद्र क्षेत्र की आवश्यकता थी और देश के प्रधानमंत्री और प्रदेश के मुख्यमंत्री का सपना था कि किसानों को तकनीकी से जुड़ना माननीय मंत्री ने किसान दुर्घटना बीमा योजना के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि पहले इस योजना का लाभ परिवार के मुखिया को ही मिलता था परंतु अब इसमें संशोधन कर दिया गया है जितने भी परिवार के सदस्य हैं और उनके साथ कोई घटना घटती है तो उसे भी इस योजना का लाभ मिलेगा।इस दौरान मंत्री ने कहा कि डाक जोन के कारण बिजली के कनेक्शन नहीं मिलते थे देश के प्रधानमंत्री एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री सबके हित को लेकर फैसला करती है। 
        इस अवसर पर कैराना सांसद प्रदीप चौधरी, शामली विधायक तेजेंद्र निर्वाल, प्रसन्न चौधरी, डा. जयवीर सिंह प्रभारी अधिकारी निर्माण, डा. एसके सचान निदेशक प्रसार, डा. अतर सिंह निदेशक अटारी कानपुर, डा. सतीश कुमार अध्यक्ष कृषि विज्ञान केंद्र सहित कृषि विभाग के अधिकारी व अन्य गणमान्य लोग व भारी संख्या में किसान उपस्थित रहे।