अधिकारी कार्यशैली में सुधार लाए अन्यथा उनके विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही अमल में लाई जाएगीः नोडल अधिकारी
February 19, 2020 • MOHD. IQBAL HASAN
 
 
शामली। शासन द्वारा नामित जनपद के नोडल अधिकारी/ मंडलायुक्त संजय कुमार सहारनपुर ने  कलेक्ट्रेट सभागार में जनपद स्तरीय अधिकारियो के साथ बैठक कर बिन्दुवार समीक्षा किया। उन्होने अधिकारियों को निर्देश दिये कि आकड़ो में भिन्नता नही होनी चाहिए।उन्होंने कहा कि अधिकारी कार्यशैली में सुधार लाये अन्यथा उनके विरूद्व अनुशासनात्मक कार्यवाही होगी।  
            उन्होने पुलिस अधीक्षक विनीत जायसवाल को निर्देश दिया कि यातायात नियमो का पालन कराया जाय लेकिन इसमें नागरिको को अनावश्यक परेशान न किया जाय।उन्होंने जाम से निपटने के लिए रोड प्लान तैयार करने के दिए निर्देश। नोडल अधिकारी ने जाम की समस्या की जानकारी ली। जिस पर  जाम से निपटने के लिए  उन्होंने प्लान तैयार कराने के निर्देश दिए। ताकि जाम की समस्या जनपद में नहीं होनी चाहिए।उन्होने आरटीओ अधिकारी को निर्देश दिया कि सड़को पर यातायात चिन्ह सहित अन्य उपाय जनहित में किया जाय। उन्होंने कहा कि ट्रैक्टर द्वारा भारी मात्रा में लकड़ी या अन्य सामान ले जाया जाता है तो उन वाहनों को सील करने के निर्देश दिए। 
        उन्होने प्रधानमंत्री आवास की समीक्षा की। नोडल अधिकारी ने सार्वजनिक शौचालयो में प्रयोग की प्रगति की जानकारी लेते हुए आवश्यक निर्देश दिये। नोडल अधिकारी ने पशु चिकित्सा अधिकारी से जनपद के गौ आश्रय के विषय में जानकारी ली। उन्होंने निर्देश दिए कि गौ  आश्रय स्थल में अभी तक पशुओं की मृत्यु हुई है उसकी आख्या प्रस्तुत करें। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि चारागाह की जमीन पर चारा उगाएं ताकि पशुओं को हरा  चारा मिले जिससे पशुओं का स्वास्थ्य सही रहे।
        नोडल अधिकारी ने आयुष्मान कार्ड की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को बधाई देते हुए कहा कि आप द्वारा पंसारियन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर मरीजों के लिए बेहतर व्यवस्था कराई गई है इस दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी को उन्होंने बधाई दी।खाद्य सुरक्षा, कृषि विभाग के कार्यो की समीक्षा की।
          उन्होंने गन्ना अधिकारी को निर्देश दिए कि नए सत्र के गन्ना भुगतान के लिए तेजी से कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि किसानों का उत्पीड़न किसी भी स्तर पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने गन्ना अधिकारी को निर्देश दिए कि आपके कार्यालय के सभी कर्मचारी व अधिकारियों द्वारा वाहनों पर रिफ्लेक्टर लगवाए जाएं ताकि दुर्घटना ना हो। उन्होंने कहा कि आप द्वारा अभी तक रिफ्लेक्ट नहीं लगवाए गए हैं अत्यंत खेद जनक है। उन्होंने कहा कि मेन रोड पर सभी कर्मचारियों द्वारा खड़े होकर सभी वाहनों पर रिफ्लेक्टर लगाने के निर्देश दिए। 
        उन्होंने कहा कि कन्या सुमंगला योजना मुख्यमंत्री जी की प्राथमिकताओं में से एक है उन्होंने कहा कि जल्द से जल्द जनपद में कन्या सुमंगला योजना के तहत अधिक से अधिक लाभ दिया जाए। उन्होंने कहा कि किसी भी स्तर पर कन्या सुमंगला योजना में लापरवाही न बरती जाए। उन्होंने कहा कि कन्या सुमंगला योजना में जनपद की रैंकिंग 72 है। उन्होंने निर्देश दिए कि जनपद शामली टॉप टेन में कन्या सुमंगला योजना की रैंकिंग में रहना चाहिए। उन्होंने 10 बड़े बकायेदारों को विरुद्ध कार्यवाही करने के कठोर कार्रवाई के निर्देश दिए। 
        उन्होंने कहा कि भू माफियाओं को चिन्हित कर कठोर कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने अवैध कालोनियों को ध्वस्तीकरण कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि विकास प्राधिकरण से बिना मानचित्र स्वीकृत कराए अवैध विकास कर्ता, प्लॉटिंगकर्ताओं द्वारा अवैध रूप से प्लाटिंग कर भूखंडों का क्रय विक्रय किया जा रहा है। ऐसे अवैध कालोनियों को ध्वस्तीकरण कराने के साथ साथ वैधानिक कार्यवाही के कठोर निर्देश दिए। जिस पर विकास प्राधिकरण ने 7 अवैध कॉलोनियों चिन्हित कर ली है जिस पर तुरंत ध्वस्तीकरण कराया जाएगा। 
     उन्होंने एनएचआई विभाग के अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाई उन्होंने कहा कि एनएचआई द्वारा सड़कों गड्ढा मुक्त नहीं किया गया जिस पर उन्होंने कड़ी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि जनपद शामली में गड्ढों के कारण किसी भी व्यक्ति की मौत होती है तो आप के विरुद्ध एफ आई आर दर्ज कराई जाएगी। उन्होंने खनन अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि स्वीकृत खनन पट्टों को तत्काल संचालित कराने हेतु निर्देशित किया गया।
        इस दौरान जिलाधिकारी ने नोडल अधिकारी को आश्वस्त करते हुए कहा कि आप द्वारा दिए गए निर्देशों को पालन किया जाएगा।
        इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक विनीत जायसवाल, अपर जिलाधिकारी अरविंद कुमार सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक, राजेश श्रीवास्तव, एसडीएम सदर संदीप कुमार, एसडीएम कैराना मणि अरोड़ा, एसडीएम ऊन उद्भव त्रिपाठी, परियोजना निदेशक ज्ञानेश्वर तिवारी व जिला स्तरीय आदि अधिकारी मौजूद रहे।