अयोध्या फैसला: कैराना पर गड़ी रही अफसरों की निगाहें
November 9, 2019 • MOHD. IQBAL HASAN

शामली: जिले में कैराना की संवेदनशीलता को देखते हुए अधिकारियों की निगाहें गड़ी रही। अधिकारियों ने स्पेशल ब्लैक कमांडों और पीएसी के जवानों के साथ फ्लैग मार्च किया। वहीं, डीएम-एसपी ने पल-पल की गतिविधियों पर कड़ी नजर रखी। उन्होंने बराबर फ्लैग मार्च करने और शरारती तत्वों पर नजर रखने के निर्देश दिए।


शनिवार को अयोध्या विवादित भूमि प्रकरण पर सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को लेकर पुलिस-प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट मोड पर नजर आया। यहां माहौल को शांतिपूर्ण रखने के लिए सुबह से ही अफसर सड़कों पर उतर गए थे। एसडीएम डा. अमित पाल शर्मा व सीओ प्रदीप सिंह ने स्पेशल कमांडो तथा पीएसी के साथ में नगर भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने पानीपत-खटीमा राजमार्ग, मुख्य चौक बाजार, जोडवा कुआं, पुराना बाजार, मीना बाजार, ईदगाह रोड आदि में फ्लैग मार्च करते हुए लोगों से शांति व्यवस्था बरकरार रखने की अपील की। वहीं, डीएम अखिलेश सिंह व एसपी अजय कुमार पांडेय भी कोतवाली पहुंच गए। उन्होंने व्यवस्थाओं को परखा। घंटों तक दोनों ही अधिकारी कैराना में जमे रहे। डीएम व एसपी ने भी यूपी-हरियाणा बॉर्डर तक रूट मार्च किया। एसपी ने पुलिसकर्मियों को क्षेत्र में पूरी तरह से अलर्ट रहने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि क्षेत्र की पल-पल की गतिविधियों पर कड़ी नजर रखी जा रही है। जमीनी स्तर से लेकर सोशल मीडिया तक निगरानी की जा रही है। एसपी ने कहा कि माहौल पूरी तरह से शांतिपूर्ण हैं। यदि कोई असामाजिक तत्व माहौल बिगाड़ने की कोशिश करता है, तो उसे बख्शा नहीं जाएगा और तत्काल कठोरतम कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

दिनभर सड़कों पर रहे अफसर

डीएम अलिखलेश सिंह व एसपी अजय कुमार पांडेय के साथ ही एसडीएम डा. अमित पाल शर्मा, सीओ प्रदीप सिंह तथा कोतवाली प्रभारी निरीक्षक यशपाल धामा दल-बल के साथ में दिनभर सड़कों पर नजर आएं। शाम तक पुलिस का फ्लैग मार्च लगातार चलता रहा, जिसके चलते माहौल पूरी से शांत नजर आया।


यूपी-हरियाणा बॉर्डर पर बरती चौकसी

शांति व्यवस्था बरकरार रखने के लिए यूपी-हरियाणा सीमा पर खासी चौकसी बरती गई। सीमा पर पुलिस मुस्तैद की गई थी, जहां पुलिसकर्मियों ने सघन चेकिंग अभियान भी चलाया। इस दौरान पुलिसकर्मियों के चेकिंग किए बिना किसी भी वाहन को जाने नहीं दिया गया।

खुफिया विभाग ने डाला डेरा

चूंकि कैराना जिले में सबसे संवेदनशील कस्बा माना जा रहा है, लिहाजा सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर यहां खुफिया विभाग की टीम ने डेरा डाल लिया। खुफिया विभाग की टीम भी यहां की गतिविधियों पर कड़ी नजर रखे हुए थी।

संवेदनशील स्थानों पर तैनात रहा फोर्स

कई दिनों से पुलिस अफसर क्षेत्र में अयोध्या प्रकरण पर फैसले को लेकर मौअज्जिज लोगों के साथ में बैठक आयोजित कर उनसे शांति बनाए रखने की अपील करते नजर आ रहे थे। अफसरों ने पहले ही माहौल को शांतिपूर्ण रखने के लिए पूरा खाका तैयार कर लिया था। शनिवार को नगर के मुख्य चौक बाजार, कांधला तिराहा, पालिका मार्किट, निर्मल चौराहा आदि पर पुलिस फोर्स तैनात रहा। इस दौरान पुलिसकर्मियों ने आने-जाने वाले लोगों की तलाशी भी ली। इसके साथ ही एक स्थान पर लोगों की भीड़ एकत्र नहीं होने दी गई।

कमिश्नर व डीआईजी ने परखी व्यवस्था

शनिवार शाम सहारनपुर मंडलायुक्त संजय कुमार व डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल कैराना कोतवाली पहुंचे। यहां उन्होंने अफसरों से कैराना के हालातों के बारे में जानकारी हासिल की। इसके साथ ही उन्होंने व्यवस्थाओं का भी जायजा लिया। उन्होंने क्षेत्र की पल-पल की गतिविधियों पर कड़ी नजर रखने के निर्देश दिए।