हरियाणा राज्य से आए 1720 प्रवासी मजदूरों को यूपी रोडवेज की 56 बसों द्वारा उनके जिलों में छोड़ने की व्यवस्था
April 26, 2020 • MOHD. IQBAL HASAN
शामली । कोरोना वायरस के दृष्टिगत उत्तर प्रदेश सरकार ने हरियाणा राज्य से आने वाले प्रवासी मजदूरों के लिए उत्तर प्रदेश के 5 जिलों में सेंटर बनाए हैं। जिसमें सहारनपुर, शामली, बागपत,बुलंदशहर व  मथुरा आदि शामिल है।
      जिलाधिकारी शामली जसजीत कौर ने बताया कि 14 दिन पूरा करने के उपरांत हरियाणा राज्य से आने वालों लोगों के लिए जनपद शामली में दो शेल्टर होम जिसमें कैराना में राधा स्वामी सत्संग ब्यास एवं करनाल रोड स्थित मैरेज हाउस अहमदगढ़,में शेल्टर होम पर बस इनको छोड़ेगी। जिसके बाद इनकी मेडिकल स्क्रीनिंग होगी और इनको खाना खिलाने के उपरांत सूची के अनुसार इनको बसों में बैठाकर उनके जिले में गंतव्य स्थान पर छोड़ा जाएगा।
    उन्होंने बताया कि वहां पर इनकी इनकी मेडिकल स्क्रीनिंग की जाएगी और इनको 14 दिनों के लिए वहां पर भी क्वॉरेंटाइन किया जाएगा।हरियाणा राज्य के सभी जनपदों से आने वाले लगभग उत्तर प्रदेश के 12 जिलों के लोगों को जनपद शामली से यूपी रोडवेज की बसों से उनके जनपद में भेजा जाएगा।                 
     हरियाणा राज्य के विभिन्न जनपदों से लौटने वाले 1720 लोगों को जनपद शामली से यूपी रोडवेज की 56 बसों द्वारा उनको संबंधित जिलों में छोड़ने का काम करेगी।इन सभी की देखरेख के लिए नोडल अधिकारी के रूप में मुख्य विकास अधिकारी शंभूनाथ तिवारी एवं परियोजना निदेशक ज्ञानेश्वर तिवारी को बनाया गया है।
     उन्होंने बताया कि ये सभी लोग अपने-अपने जनपदों में भी 14 दिन तक क्वॉरेंटाइन किए जाएंगे।अब तक जनपद शामली से 02बस बहराइच, 03 बस उन्नाव 2बस सीतापुर ओर 01 रायबरेली के लिए बस रवाना हो गई है।
            जिलाधिकारी जसजीत कौर ने बताया कि कोरोना वायरस के दृष्टिगत हरियाणा राज्य के विभिन्न जनपदों से आने वाले प्रवासी मजदूरों को सूची के अनुसार ही भेजा जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रायः सुनने में आया है कि कुछ लोग यमुना में तैर कर आ रहे हैं जिनको नियमानुसार वापस भेजा जा रहा है। उपलब्ध कराई गई सूची के अनुसार ही लोगों को उनके जनपदों में भेजा जा रहा है।