जनपद शामली में 34 केंद्रों पर आयोजित होंगी बोर्ड परीक्षाएंःडीएम
February 12, 2020 • MOHD. IQBAL HASAN
 
 
 
-नकलविहीन वह शांतिपूर्ण संपन्न कराने हेतु 3 जोनल मजिस्ट्रेट व 4 सेक्टर मजिस्ट्रेटो की गई नियुक्ति
-तीन सचल दस्तों का भी किया गया गठन
-18 फरवरी से 6 मार्च तक आयोजित होंगी हाई स्कूल व इंटर परीक्षाएं
शामली।जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने कहा कि यूपी बोर्ड की हाईस्कूल एवं इंटरमीडिए नकलविहीन व शांति पूर्ण कराने के लिए जनपद को तीन जोनल मजिस्ट्रेट चार सैक्टर मजिस्ट्रेट नियुक्त किए गए हैं। परीक्षाओं को नकलविहीन एवं सुचारू रूप से संपन्न कराने तथा शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस बल की भी व्यवस्था की गई। जनपद में बोर्ड परीक्षा हेतु 34 परीक्षा केद्रों बनाए गए। उन्होंने कहा कि परीक्षा में ड्यूटी में लगे जोनल मजिस्ट्रेट व सेक्टर मजिस्ट्रेट व संबंधित अधिकारी परीक्षा समाप्ति तिथि तक बिना अनुमति के मुख्यालय नहीं छोडेगें।उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर कोई भी अधिकारी परीक्षा के दौरान बिना अनुमति के मुख्यालय छोडता हैं तो कठोर कार्यवाही की जाएगी।
         बुधवार को जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने यूपी बोर्ड की परीक्षा की तैयारियों को लेकर कलेक्ट्रेट सभागार में एक मीटिंग को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि परीक्षा 18 फरवरी से प्रारंभ होकर 06 मार्च तक संपन्न होगी। उन्होंने कहा कि परीक्षा को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने के लिए जनपद को तीन जोन मजिस्ट्रेट व चार सैक्टर मजिस्ट्रेट नियुक्त किए गए। जनपद में 34 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। तीन सचल दल का गठन किया गया है। सभी परीक्षा केंद्र सीसी कैमरों की निगरानी में होगें साथ ही वॉइस रिकॉर्डर भी लगाए जाएंगे।उन्होंने कहा कि यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए हाईस्कूल के लिए 13825 व इंटरमीडिएट के लिए 11704 छात्र-छात्राएं परीक्षा में बैठेंगे।
     उन्होंने जिला विद्यालय निरीक्षक को निर्देश दिए कि बोर्ड परीक्षा हेतु सेक्टर मजिस्ट्रेट की तैनाती की संख्या बढ़ाई जाए। उन्होंने कहा कि परीक्षा के दौरान सीसी टीवी कैमरा में वायस रिकार्डिग की जाए।परीक्षा केंद्र पर होने वाली हर गतिविधि की वायस रिकार्ड के साथ रिकार्डिंग होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि परीक्षा के दौरान कोई भी अधिकारी मुख्यालय उनकी अनुमति के बिना नहीं छोडेगा।परीक्षा के दौरान किसी भी केंद्र पर अगर कोई नकल करते पाया गया तो परीक्षा केंद्र व्यवस्थापक के साथ-साथ वहां के कक्ष निरीक्षक के साथ भी कार्यवाही की जाएगी। 
       इस दौरान उन्होंने कहा कि परीक्षा केंद्र के पास चलने वाले कोचिंग सेंटरों पर विशेष नजर रखी जाए। परीक्षा के दौरान परीक्षा केंद्रों के आसपास फोटो स्टेट सेंटर बंद रहेंगे। परीक्षा केंद्रों तथा उनके आसपास किसी भी अनाधिकृत व्यक्ति का जाना प्रतिबंधित है। उन्होंने कहा कि हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षाओं के परीक्षा केंद्र परिसर के अंदर परीक्षार्थियों को पाठ्य सामग्री ले जाने की अनुमति कदापि अंदर ना ले जा सके। उन्होंने कहा कि प्रत्येक कमरे में दो कक्ष निरीक्षक लगाए जाएंगे। पांच कक्षाओं के बीच में एक अवमोचक की व्यवस्था रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि परीक्षा केंद्र परिसर के अंदर मोबाइल फोन अथवा ऐसे इलेक्ट्रॉनिक यंत्र जिससे अनुचित साधन प्रयोग की आशंका हो ले जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। उन्होंने समस्त अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि हाईस्कूल तथा इंटरमीडिएट परीक्षाओं में नकल की रोकथाम तथा परीक्षा शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने जनपद के तीन तहसीलों को तीन जोन में  विभाजन किया। प्रत्येक उप जिला मजिस्ट्रेट अपनी-अपनी तहसीलों के जोनल मजिस्ट्रेट होंगे। उन्होंने निर्देश दिए कि। अपने-अपने जोनों में नकल विहीन निष्पक्ष एवं शांतिपूर्वक परीक्षा संपन्न कराएंगे। उन्होंने कहा कि विशेष सतर्कता बरतेंगे तथा जोनो में आने वाले समस्त सेक्टर मजिस्ट्रेट को यथा आवश्यक दिशा निर्देश देंगे। उन्होंने कहा कि जनपद में धारा 144 लागू है तथा परीक्षा केंद्रों अथवा उनके आसपास किसी परीक्षार्थी उनके अभिभावकों को या अन्य किसी व्यक्ति द्वारा उसका उल्लंघन किया जाता है तो उनके विरुद्ध सुसंगत धाराओं में कार्रवाई की जाएगी। हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के लिए जनपद में तीन सचल दलों का गठन किया गया है।
     इस अवसर पर अपर पुलिस अधीक्षक, राजेश कुमार श्रीवास्तव, उप जिलाधिकारी कैराना मणि अरोड़ा, उप जिलाधिकारी ऊन उद्भव त्रिपाठी, जिला विद्यालय निरीक्षक सरदार सिंह, बेसिक शिक्षा अधिकारी गीता वर्मा अमित मलिक सहित संबंधित अधिकारी आदि उपस्थित रहे।