कैराना के दौरे पर पहुंचे मंडलायुक्त, इस बड़ी समस्या से राहत देने की जुगत
November 27, 2019 • MOHD. IQBAL HASAN

शामली: सहारनपुर मंडलायुक्त व जिले के नोडल अधिकारी संजय कुमार ने कैराना ब्लॉक, कोतवाली और मामौर झील का निरीक्षण किया। उन्होंने ब्लॉक में ब्लॉक में जनसमस्याओं का फीडबैक सही नहीं मिलने पर कड़ी नाराजगी जताई। मंडलायुक्त ने मामौर में चौपाल लगाकर समस्याएं सुनते हुए अधिकारियों को झील के पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के लिए कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए हैं।


बुधवार को मंडलायुक्त संजय कुमार शीतकालीन भ्रमण के दौरान कैराना के खंड विकास कार्यालय पर पहुंचे। जहां डीएम व एसपी समेत अन्य अधिकारियों ने उन्हें गुलदस्ता भेंट कर स्वागत किया। तत्पश्चात गार्ड आॅफ आॅनर दिए गए। मंडलायुक्त ने ब्लॉक का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने ब्लॉक के कंप्यूटर रूम में आईजीआरएस के बारे में गहनता से जानकारी ली। जहां जनसमस्याओं का फीडबैक सहीं नहीं मिल ने पर उन्होंने कड़ी नाराजगी जताई। कहा कि यह काम एडीओ पंचायत व बीडीओ का होता है। इसमें सुधार सुनिश्चित करें। साथ ही, विकास कार्यों की समीक्षा भी की गई। इसके बाद मंडलायुक्त ने कोतवाली का निरीक्षण किया। निरीक्षण करने के बाद वह पानीपत रोड पर स्थित बाईपास के निकट इस्सक वाले तालाब पर पहुंच गए। इसी तालाब से होकर मामौर झील में कैराना की निकासी का पानी जाता है। मंडलायुक्त ने तालाब की सफाई कराने व चारों ओर सीमेंट के पिलर लगवाए जाने के निर्देश दिए। इसके बाद वह मामौर झील पर पहुंचे। यहां पैदल घूमकर मामौर झील का निरीक्षण किया। उन्होंने झील किनारे चौपाल भी लगाई तथा ग्रामीणों व किसानों की समस्याएं सुनी। मंडलायुक्त ने लोगों की समस्याओं के निस्तारण करने के अधीनस्थ अधिकारियों को निर्देश दिए। वहीं, मंडलायुक्त संजय कुमार ने कहा कि मामौर झील पर नमामि गंगे प्रोजेक्ट के तहत किसानों को राहत देने के लिए काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि झील को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के लिए इसकी कार्ययोजना तैयार की जाएगी तथा कैराना की निकासी के पानी को ट्रीट कर उसकी कहीं और व्यवस्था की जाए। पानी ट्रीट होने के बाद स्वच्छ होने से वह सिंचाई योग्य होगा। मंडलायुक्त ने नगरपालिका को भी हर गली-मोहल्लों में विशेष रूप से सफाई अभियान चलाने, एंटी लार्वा और फॉगिंग कराने के निर्देश दिए। वहीं, उन्होंने अयोध्या प्रकरण पर जिले में शांति व्यवस्था बहाल रहने पर पुलिस अधीक्षक अजय कुमार की भी प्रशंसा की। इस दौरान डीएम अखिलेश सिंह, एसपी अजय कुमार, सीडीओ शंभूनाथ तिवारी, एएसपी राजेश कुमार श्रीवास्तव, एसडीएम डा. अमित पाल शर्मा, तहसीलदार रनबीर सिंह आदि मौजूद रहे।

विद्युत विभाग ने भेजा ढाई लाख का बिल

कैराना निवासी अरशद ने मंडलायुक्त को शिकायती पत्र देते हुए बताया कि विद्युत विभाग ने उसका बिल निकाला है। आरोप है कि बिल में अधिक रीडिंग दिखाई गई है और बिल को ढाई लाख रूपये का बना दिया गया है। जबकि उस पर एक तिहायी भी बकाया नहीं है। युवक ने मंडलायुक्त से बिल को कम कराकर सुधार कराए जाने की गुहार लगाई है। मंडलायुक्त ने संबंधित अधिकारी को निर्देश दिए हैं।

अस्पताल का नहीं कर सके निरीक्षण

मण्डलायुक्त का बुधवार को कैराना के सरकारी अस्पताल के निरीक्षण और ऊँचागांव में चौपाल लगाने का कार्यक्रम भी प्रस्तावित था, लेकिन वह समय के अभाव में यहां नहीं जा सके। ब्लॉक, कोतवाली, मामौर झील का निरीक्षण करने के बाद वह शामली के लिए रवाना हो गए। बताया जा रहा है कि सलामी देने वाले गार्द को मण्डलायुक्त ने कुछ नकद इनाम भी दिया। इसके अलावा चौकीदारों की समस्या भी सुनी गई।