कृष्णी नदी बिना जनसहयोग के पुर्नजीवित नही की जा सकती- जिलाधिकारी
February 5, 2020 • MOHD. IQBAL HASAN
शामली। कृष्णी नदी पुर्नजीवन अभियान के तहत न्यू विकास भवन सभागार में एक बैठक का आयोजन जिलाधिकारी अखिलेश सिंह की अध्यक्षता में किया गया, इस बैठक में कृष्णी नदी जलागम क्षेत्र के 40 से अधिक ग्रामों के प्रधानों को बुलाया गया और चर्चा की गयी कि कैसे हम 30 मई माह से पहले नदी को इसके पुराने स्वरूप में लाया जा सकता है, बैठक की अध्यक्षता कर रहे जिलाधिकारी ने कहा कि हमारा जनपद में गंगा और यमुना का साफ पानी खेडी व भैंसवाल में उपलब्ध है और इस पवित्र जल का संरक्षण किया जाना अत्यन्त आवश्यक है, मगर ये कार्य अकेले सरकार नही कर सकती इसमें सभी ग्राम व नगर वासियों को अपनी अपनी भूमिका को निभाने के जरूरत है, जिलाधिकारी द्वारा प्रधानों व सचिवों से जब पूछा गया कि कौन सी ग्राम सभा सबसे पहले अपने हिस्से का कार्य पूरा कर लेगी, इस पर सभी ने एक स्वर में अपना समर्थन जाहिर किया और नदी व सहायक जलधाराओं की भूमि चिन्हांकन कार्य को जल्द पूर्ण कर लेने का वादा किया।
        बैठक में भाग ले रही विषेश आंमत्रित सदस्य डा0 वीणा खण्डूरी, कार्यकारी निदेशक, इण्डिया वाटर पार्टनरशिप, दिल्ली ने अपने सम्बोधन में कहा कि नदी को पुर्नजीवित करना एक वैज्ञानिक कार्य है और इसके लिए जिम्मेदार सभी स्टेकहोल्डरस का आपस में समन्वय बेहद जरूरी है, उन्होने कहा कि पिछले वर्ष में हम लोगो ने 7 ग्राम सभाओं के डीपीआर बनाने में सहायता की थी जिसका नतीजा ये है कि आज ग्राम सभा खेडी करमु में साफ और स्वच्छ जल उपलब्ध है, डा0 वीणा ने बताया कि हमने जनपद शामली की समस्याओं के समाधान के लिए विभिन्न वैज्ञानिकों व संस्थानों से टाइअप किया है जिनकी सहायता से प्रदूषित जल को पुनः ठीक करके इसे सिंचाई व पेयजल के लायक बनाया जा सकेगा।
        मुख्य विकास अधिकारी शामली शम्भूनाथ तिवारी ने सभी प्रधानों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आप सभी को भगीरथ की भूमिका में आना होगा । और हमारे जनपद में मौजूद कृष्णी नदी के पुर्नउधार के लिए कमर कसके कार्य करना होगा, ग्राम सचिव, लेखपाल व प्रधान तीनों एकसाथ बैठकर नदी की भूमि का चिन्हांकन तत्काल करा ले और नदी के आसपास वाली सभी बंजर या अन्य भूमियों का भी चिन्हांकन करा लें और इसमें खेल का मैदान, पार्क, वृक्षारोपण, तरल अपशिष्ठ प्रबंधन ईकाई, वैटलैंड, तितली पार्क आदि का निमार्ण ग्राम निधी से करें , मुख्य विकास अधिकारी ने ये भी निर्देशित किया हर एक ग्राम में जैव विविधता, नियोजन एवं विकास समिति का पुर्नगठन कर ले और इसमें पढे लिखे पर्यावरण से लगाव रखने वाले नागरिकों को शामिल कर सक्रिय का साप्ताहिक योजना बना लें और कृष्णी मित्र, व कृष्णी प्रहरी नियूक्त कर प्रचार प्रसार का कार्य करना जोर शोर से शुरू कर दे। 
         कृष्णी पुर्नजीवन बैठक में इनेक्टस समूह दिल्ली के छात्र, शामली, कांधला व थानाभवन विकास खंड के 40 प्रधान व सचिव, जिला पंचायतराजअधिकारी, विकास खण्ड अधिकारी, वैज्ञानिक उमर सैफ, वैज्ञानिक सुनील नन्दा, भगीरथ पुरस्कार से सम्मानित मुस्तकीम मल्लाह(रामडा) आदि ने भाग लिया