मामौर में खनन माफियाओं का इकबाल, वैध पट्टा छोड़ किसान की भूमि से अवैध खनन
December 6, 2019 • MOHD. IQBAL HASAN

शामली: कैराना यमुना खादर के मामौर में वैध पट्टे की आड़ में अवैध खनन किए जाने का राजफाश हो चुका है, लेकिन इसके बावजूद भी अवैध खनन थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां खनन माफिया नियत स्थान छोड़कर किसान की भूमि से अवैध खनन कर रहे हैं। पीड़ित किसान ने डीएम को शिकायती पत्र देकर कार्रवाई की मांग की है।
   कैराना के मोहल्ला कायस्थवाडा निवासी पहल सिंह ने डीएम को दिए गए शिकायती पत्र में बताया कि उसकी कृषि भूमि खाता संख्या 40 खसरा 2/9 रकबा 1.2800 हेक्टेयर ग्राम मामौर अहतमाल साबिक में स्थित है। आरोप है कि खनन माफिया वेध पट्टे की आड़ में नियत स्थान छोड़कर उसकी भूमि से अवैध खनन कर रहे हैं। जहां खनन माफियाओं ने अपना कब्जा जमा लिया है जिस कारण वह अपने खेत में फसल के लिए बुवाई भी नहीं कर पा रहा है। खनन माफिया उसकी भूमि पर आने जाने के लिए रास्ता बना रहे हैं और क्षेत्राधिकार से बाहर यमुना नदी से अवैध खनन करते चले आ रहे हैं। किसान का कहना है कि खनन अनुभाग द्वारा जारी टेंडर लिस्ट में निर्धारित क्षेत्राधिकार में उसे छोड़कर अन्य किसानों को धनराशि भी दे दी गई है। वह परेशान है। किसान ने डीएम से खनन माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग की है।

  • अवैध खनन में पुलिस का भी खेल
    मामौर में बड़े पैमाने पर चल रहे अवैध खनन के कारोबार को कैराना कोतवाली पुलिस का संरक्षण प्राप्त है, क्योंकि नवंबर में पुलिस ने मामौर में रात के समय छापेमारी कर अवैध खनन पकड़े जाने का दावा किया, लेकिन मौके से पकड़े गए पॉर्कलेन के चालक को रातोंरात छोड़ दिया गया था। इस मामले में पुलिस ने खनन ठेकेदार के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई की खानापूर्ति कर ली थी। अब अवैध खनन की शिकायत के बाद फिर से पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े होते नजर आ रहे हैं।