मशहूर शायर मुज़फ्फर 'रज़्मी' की पुण्यतिथि सादगी से मनाई
September 19, 2020 • MOHD. IQBAL HASAN

शामली/कैराना। मशहूर शायर मुजफ्फर रज़्मी की आठवीं पुण्यतिथि बड़ी ही सादगी के साथ मनाई गई। इस अवसर पर कुरआन ख्वानी कराकर उनकी मगफिरत की दुआ की गई।
   शनिवार को मशहूर शायर मुजफ्फर इस्लाम रज्मी की आठवीं पुण्यतिथि उनके आवास मोहल्ला बेगमपुरा में परिवार के लोगों के साथ बड़ी ही सादगी के साथ मनाई गई। इस मौके पर कुरआन ख्वानी कराई गई, जिसके बाद उनकी मगफिरत के लिए प्रार्थना की गई। बता दें कि शायर मुजफ्फर रज्मी ने शायरी की दुनिया में कैराना को खासी पहचान दिलाई है। उन्होंने विदेशों तक शायरी का लोहा मनवाया है। रज्मी द्वारा कहा गया शेर 'ये जब्र भी देखा है तारीख की नजरों ने, लम्हों ने खता की थी सदियों ने सजा पाई' देश की संसद में भी गूंजा है।

  • पीएम से सहायता की उम्मीदें
    मरहूम शायर मुजफ्फर रज्मी के बेटे नवेद कमाल ने बताया कि उन्होंने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखा था, जिसमें परिवार की आर्थिक स्थिति से अवगत कराते हुए रज्मी साहब की गजलें भी प्रेषित की गई थी। नवेद कमाल बताते हैं कि उन्हें पीएम को लिखे गए पत्र का जवाब मिला है। पीएम से उन्हें सहायता की उम्मीद हैं।