पीएसी बटालियन की जमीन की पैमाइश शुरू
March 8, 2020 • MOHD. IQBAL HASAN
 
- ऊंचागांव में स्थापित होगी पीएसी बटालियन
- सहायक सेनानायक की देखरेख में हो रही पैमाइश, निशानदेेही
 
कैराना। क्षेत्र के ऊंचागांव में पीएसी बटालियन की जमीन की पैमाइश का कार्य शुरू कर दिया गया है। एक दिन पहले ही जमीनों के बैनामे सेनानायक के नाम हुए थे। सहायक सेनानायक की देखरेख में पैमाइश करते हुए निशानदेही की जा रही है। माना जा रहा है कि पैमाइश पूर्ण होने के बाद जल्द ही शिलान्यास हो सकता है।
   तहसील कैराना क्षेत्र के ग्राम ऊंचागांव में पीएसी बटालियन और गुज्जरपुर में फायरिंग की स्थापना होनी है। गत एक मार्च को शामली में पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जमीनों के बैनामे नहीं होने के कारण इसका शिलान्यास नहीं कर पाए थे। सीएम ने प्रशासन को जल्द ही प्रक्रिया पूर्ण करने के निर्देश दिए थे। शनिवार को ऊंचागांव के 65 किसानों ने पीएसी बटालियन के लिए 24.8697 हेक्टेयर भूमि के बैनामे पीएसी छठी वाहिनी मेरठ के सेनानायक कुंवर अनुपम सिंह के नाम कर दिए थे। अब आगे की प्रक्रिया तेजी के साथ बढ़ रही है। रविवार को मेरठ से आरआरएफ के सहायक सेनानायक अब्दुल रज्जाक प्लाटून सेनानायक अरविंद कुमार, इंस्पेक्टर रमेशचंद, प्रधान लिपिक सुधीर कुमार, सहायक लिपिक लोकेश कुमार व आरक्षी सतीश कुमार के साथ कैराना तहसील मुख्यालय पहुंचे। यहां से राजस्व टीम के साथ में वे ऊंचागांव में पहुंचे। सहायक सेनानायक की देखरेख में टीम द्वारा पीएसी बटालियन की भूमि की पैमाइश शुरू की गई। भूमि की पैमाइश के साथ ही निशानदेही भी की जा रही है। सहायक सेनानायक अब्दुल रज्जाक ने बताया कि जल्द ही भूमि की पैमाइश हो जाएगी। निशानदेही भी की जा रही है। यह प्रक्रिया तेजी के साथ आगे बढ़ रही है। शिलान्यास कब होगा, इस बारे में अभी वह कुछ नहीं बता सकते हैं। इस दौरान तहसील से राजस्व टीम भी मौजूद रही।
---
बटालियन से विकसित होगा क्षेत्र
जमीन की पैमाइश शुरू होने के बाद अब जल्द ही पीएसी बटालियन के शिलान्यास की भी संभावना हैं। कैराना-कांधला के मध्य पीएसी बटालियन की स्थापना होने के बाद जरूरत पड़ने पर कुछ ही मिनटों में फोर्स मौके पर पहुंच जाएगा। पीएसी बटालियन की स्थापना से क्षेत्र भी विकसित होगा।
---
उत्साहित अवाम, शिलान्यास का इंतजार
भाजपा के दिवंगत सांसद बाबू हुकुम सिंह की मांग पर योगी सरकार पीएसी बटालियन की स्थापना करने जा रही है। इसके लिए भूमि अधिग्रहण कर ली गई है। किसान ​ही नहीं, बल्कि क्षेत्र की जनता उत्साहित नजर आ रही है। अब लोगों को पीएसी बटालियन के शिलान्यास का इंतजार है।