पीजीआई चंडीगढ़ में उपचार के दौरान गांव डांगरौल के शिक्षा मित्र की मौत
May 8, 2020 • MOHD. IQBAL HASAN
 
-कोरोना टेस्ट रिपोर्ट में निगेटिव या पॉजिटिव की पुष्टि नहीं
 
कैराना / शामली । कांधला क्षेत्र के गांव डांगरौल के शिक्षा मित्र की उपचार के दौरान चढीगढ में मौत हो जाने से परिजनों में कोहराम मच गया। परिजनों के अनुसार शिक्षा मित्र की मौत कोरोना के कारण हुई है। जबकि अधिकारी इस बात की पुष्टि होने से इंकार करते रहे। मामले को लेकर गांव में भय का माहौल बना हुआ है। 
       बता दें कि जनपद शामली के कैराना तहसील के कांधला थाना क्षेत्र के गांव डांगरौल निवासी 32 वर्षीय युवक सुरेश कुमार  गांव के प्राथमिक पाठशाला नंबर 2 में शिक्षा मित्र के पद पर कार्यरत था। परिजनो के अनुसार सुरेश कुमार ब्लड कैंसर से पीडित था। जिसके चलते उसकी पिछले कुछ समय से मेरठ के एक निजी हाॅस्पिटल में उपचार चल रहा था। कुछ दिन पहले अचानक तबीयत खराब होने पर शिक्षा मित्र को जनपद शामली में एक निजी हाॅस्पिटल में भर्ती कराया गया था। जहां पर उसकी हालत को देखते हुए उसे करनाल के लिए रेफर कर दिया गया था। करनाल में उसकी हालत में कोई सुधार ना होता देख डाक्टरों ने उसे तीन दिन पूर्व चडीगढ पीजीआई के लिए रेफर कर दिया था। जहां पर उसका उपचार चल रहा था। 
       बृहस्पतिवार रात्रि के समय उपचार के दौरान शिक्षा मित्र सुरेश कुमार की मृत्यु हो गई। उसकी मृत्यु के बाद गांव में उसकी कोरोना से मौत का समाचार पहुंचा तो पूरे गांव में भय का माहौल व्याप्त हो गया। सभी लोग प्रशासनिक अधिकारियों व स्वास्थ्य विभाग से मामले की पुष्टि के लिए बार बार पूछते रहे। किन्तु मामले में कोई भी अधिकारी कुछ भी कहने से बचता रहा।
     शुक्रवार दोपहर के समय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कांधला से तीन टीमें गांव डांगरौल में पहुंची तथा मृतक सुरेश कुमार के परिवार के सभी लोगों के सैम्पल लेने के बाद पडोस में ही रहने वाले जोनी पुत्री जोगीदास, प्रविन्द्र पुत्र श्यामलाल व गांव राजपुर छाजपुर निवासी महक सिंह पुत्र प्रीतम सिंह का सैम्पल लेकर सभी लोगों को क्वराटाईन सेंटर के लिए लेकर चले गए। 
     उधर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कांधला के प्रभारी डाक्टर बिजेन्द्र सिंह के अनुसार अभी तक उन्होंने चडीगढ पीजीआई की रिपोर्ट नही देखी है। परिजनों के साथ गांव के लोग उसकी मृत्यु कोरोना से होना बता रहे है। जब तक हमें पोस्टमार्टम रिपोर्ट प्राप्त नही हो जाती है। तब तक हम मृत्यु का सही कारण बताने में असमर्थ है। गांव से 15 लोगों के सैम्पल लिए गए है। जबकि 14 लोगों को क्वाराटाईन किया जा रहा है। घटना के बाद से गांव में भय का माहौल है। 
       प्रधानपति अमरपाल सिंह का कहना है। कि सुरेश की मौत से ग्रामीणों में दुःख के साथ भय है। पूरे गांव को जल्द ही सेनेटाइज कराया जायेगा। हम सब यही प्रार्थना कर रहे हैै। कि सभी लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आए।
     जिलाधिकारी शामली जसजीत कौर ने जानकारी देते हुए बताया कि जनपद के गांव डांगरोल में एक व्यक्ति की चंडीगढ़ पीजीआई हॉस्पिटल में उपचार के दौरान मौत हो गई है। जिस व्यक्ति की मौत हुई है उसका कोरोना टेस्ट किया गया था रिपोर्ट में Indeterminate(स्पष्ट नहीं हुआ है)।
        उन्होंने बताया कि रिपोर्ट के अनुसार निगेटिव या पॉजिटिव की पुष्टि नहीं हो पायी है।फिर भी  एहतियात के तौर पर गाँव डंगरोड गांव को सनेटाइज किया जा रहा है।गांव में साफ सफाई की जा रही है और मृतक के परिजनों को क्वारन्टीन कर लिया गया है जिसमें 13 लोग शामिल है। वही सभी के सैम्पल लेकर जांच के लिए भेज दिए गए है।