प्राथमिकता के आधार पर करें शिकायतों का निस्तारण: डीएम शामली
December 3, 2019 • MOHD. IQBAL HASAN

शामली: प्रदेश सरकार के महत्वपूर्ण कार्यक्रम सम्पूर्ण समाधान दिवस का आयोजन आज तहसील कैराना के सभागार में जिलाधिकारी श्री अखिलेश सिंह की अध्यक्षता में आयोजित किया गया। आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस में जिलाधिकारी ने फरियादियों की शिकायतों को सुनते हुए उनके निस्तारण के निर्देश सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों को देते हुए कहा कि शासन की मंशा है कि फरियादियों की शिकायतों का निस्तारण प्राथमिकता व गुणवत्तापरक तरीके से किया जाए। उनके द्वारा यह भी निर्देश दिए गए कि फरियादियों की शिकायतों के निस्तारण में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दास्त नहीं की जायेगी। यदि फरियादियों की शिकायतों के निस्तारण में किसी अधिकारी द्वारा लापरवाही बरती जाती है तो सम्बन्धित अधिकारी के खिलाफ कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। सम्पूर्ण समाधान दिवस में फरियादियों द्वारा निस्तारण हेतु अपने 67 शिकायती पत्र जिलाधिकारी के समक्ष रखे गये जिनमें से मौके पर 05 शिकायतों का निस्तारण कर दिया गया और शेष शिकायतों के निस्तारण के लिए सम्बन्धित अधिकारियों को समय से करने के लिए निर्देश दिए।
सम्पूर्ण समाधान दिवस में जिलाधिकारी ने पराली न जलाये जाने के सम्बन्ध में सम्बन्धित अधिकारियों को कडे़ निर्देश देते हुए कहा कि गांव के अन्दर मुनादी कराते हुए प्रधानों के माध्यम से किसानों को यह बात बतायी जाए कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश है कि पराली किसी भी दशा में न जलायी जाए। क्योंकि पराली जलाने से पर्यावरण प्रदूषित होता है, जोकि हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही घातक है। इसलिए उनको विशेष रूप से यह भी बात बताई जाए। यदि इसके बावजूद भी कोई सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की अवेहलना करता है तो उस पर कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उनके द्वारा स्वास्थ्य विभाग द्वारा 02 दिसम्बर, 2019 से मार्च, 2020 तक चलने वाले मिशन इन्द्रधनुष नियमित टीकाकरण कार्यक्रम जनपद के 04 ब्लाकों में चिहिन्त किये गए 7548 बच्चों का टीकाकरण होना है, जिसमें ऊन, कैराना, थानाभवन, काॅधला ब्लाकों में ऐसे छूटे हुए परिवार एवं वो परिवार जो नियमित टीकाकरण नहीं कराते है। उनकी भ्रांति दूर करते हुए ऐसे परिवारों को टीकाकरण से पूर्व गांव में जाकर सम्बन्धित अधिकारी प्रधानों की मद्द से उन परिवारों के बच्चों का टीकाकरण कराये। जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिए की यदि उसके बावजूद भी वह टीकाकरण नहीं कराते है तो उनका राशन रोकने के निर्देश पूर्ति अधिकारी को दिए। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि नियमित टीकाकरण में जिन विभागों के अधिकारियों को जो दायित्व सौंपे गए है वह उनका निर्वाहन प्राथमिकता के आधार पर करते हुए नियमित टीकाकरण शत्-प्रतिशत कराना सुनिश्चित करें।
इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी शम्भूनाथ तिवारी, मुख्य चिकित्साधिकारी संजय भटनागर, प्रभागीय वनाधिकारी संजय कुमार, अपर पुलिस अधीक्षक राजेश श्रीवास्तव, उपजिलाधिकारी अमित पाल शर्मा सहित आदि अधिकारी उपस्थित रहे।