शामली डीएम से बोले कैराना के सभासद, साहब! बीमारी फैला रहे मीट प्लांट से दिला दो निजात
December 23, 2019 • MOHD. IQBAL HASAN

शामली: नागरिकता संशोधन कानून पर शांति व्यवस्था बरकरार रखने के लिए हुई डीएम की बैठक के दौरान मीट प्लांट का मुद्दा गूंजा। सभासदों ने एक सुर में कहा कि कैराना आपसी भाईचारा और सौहार्द की मिसाल रहा है, यहां अमन हैं लेकिन, जानलेवा बीमारियां फैला रहे मीट प्लांट से जनहित में निजात दिलाना चाहिए। मीट प्लांट से जनता त्रस्त है। बैठक के दौरान चेयरमैन ने भी मीट प्लांट को बंद कराये जाने की मांग उठाई। डीएम ने जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया है।
   सोमवार को नगरपालिका सभागार में डीएम अखिलेश सिंह ने सभासदों व गणमान्य लोगों के साथ में बैठक की। इस दौरान डीएम ने कहा कि सीएए और एनआरसी पर लोगों में भ्रम फैलाया जा रहा है। तरह-तरह की अफवाहों को तूल देने का कुछ शरारती प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने सीएए की वास्तविकता के बारे में बताया और कहा कि लोगों को इससे अवगत करें। शांति व्यवस्था बरकरार रखें तथा प्रशासन का सहयोग करें। इस पर सभासदों ने एक सुर में कहा कि कैराना में दोनों समुदाय के लोग आपस में मिल-जुलकर रहते हैं। यहां कभी ऐसी कोई स्थिति नहीं बनी हैं। अमन बरकरार है और रहेगा। सभासदों ने डीएम से मीट प्लांट की भी शिकायत की। कहा कि मीट प्लांट घनी आबादी के बीच संचालित हो रहा है, जहां पशुओं का वध कर खून को नालों और नालियों में बहाया जा रहा है, जिससे हेपेटाइटिस-सी व अन्य जानलेवा बीमारियां फैल रही है। जनता को बीमारियों ने जकड़ लिया है। पानी पीने लायक नहीं रहा है। प्रदूषित पानी के प्रयोग से गुर्दे खराब हो रहे हैं। वायु प्रदूषण भी निरंतर बढ़ता जा रहा है। इस पर एसडीएम ने कहा कि मीट प्लांट के पास में तमाम कागजात है। इसके बाद मीट प्लांट वाले मोहल्ला दरबारखुर्द रेतावाला के सभासद चौधरी सालिम ने कहा कि साहब मौके पर जाकर देखें लोग किस तरह से रह रहे हैं। सांस भी सही तरीके से नहीं ले पाते हैं। मीट प्लांट में रात में हड्डियां भी गलाई जाती है। भू-जल प्रदूषित हो रहा है तथा लोग गंभीर बीमारियों की जद में आ गए हैं, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। इस बीच चेयरमैन हाजी अनवर हसन ने भी मीट प्लांट को बंद करने की मांग उठाई। चेयरमैन ने कहा कि मीट प्लांट के द्वारा नालियों में खून बहाए जाने के कारण तीन गांव पंजीठ, मामौर और मवी के लोग बर्बादी के कगार पर पहुंच गए हैं, जहां घर-घर में लोग बीमार हैं। डीएम ने जांच कर कार्रवाई किए जाने का आश्वासन दिया है। वहीं, सभासदों ने कहा कि जहानपुरा रोड और कांधला रोड पर सर्वाधिक गंदगी मिलती है। जहानपुरा रोड पर स्थित तालाब बरसात से ओवरफ्लो है,​ जिस कारण सड़क पर ही नहीं, बल्कि कब्रिस्तान में भी गंदा पानी घुस गया है। यहां मुर्दे दफनाने के लिए भी लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसकी एक वीडियो भी सभासद पति अहसान द्वारा डीएम को दिखाई गई। डीएम ने ईओ हेमराज सिंह पुंडीर से तालाब के ओवरफ्लो के बारे में पूछा, तो वह बगले झांकते नजर आए। इसके बाद जेई ने बताया कि तालाब की समस्या के समाधान के लिए नाले का निर्माण कराया जा रहा है, जिससे निकासी सही तरीके से हो सकेगी। सभासदों ने यह भी मांग की है कि मोहल्लों में सोडियम लाइटें नहीं जल रही है, जिनकी जगह एलईडी लाइट लगवाई जानी चाहिए, ताकि रात में प्रकाश की व्यवस्था हो सके। ईओ ने बताया कि उनके पास एक करोड रूपया आता है, जिसमें वह वेतल और पेशन की पूर्ति करते हैं। एसडीएम डा. अमित पाल शर्मा ने वसूली में तेजी लाने के निर्देश दिए। चेयरमैन हाजी अनवर हसन ने कहा कि कैराना बुजुर्गों की नगरी हैं, जहां सदियों से लोग सौहार्द के साथ रहते आए हैं और भविष्य में यही रहेगा। सभासदों ने भी अमन बरकरार रखने का भरोसा दिलाया। बैठक के दौरान एसडीएम डा. अमित पाल शर्मा, सीओ प्रदीप सिंह, चेयरमैन हाजी अनवर हसन, ईओ हेमराज पुंडीर के अलावा सभाद सभासद चौधरी महबूब अली, चौधरी मुरसलीन, चौधरी सालिम, इस्राईल कुरैशी, इंतजार अंसारी, शगुन मित्तल, आसिम, मेहरबान अंसारी, गय्यूर, दानिश अली, अहसान कुरैशी, विपुल जैन, मुंशी अनवर, आदि मौजूद रहे।

साहब! शिकायत पर डराते हैं ईओ

पूर्व सभासद एवं सभासद पिता चौधरी इदरीश ने डीएम को बताया कि पिछले दिनों आलकलां मोहल्ले में स्थित नगरपालिका के जोहड़ पर कब्जाधारियों के खिलाफ नोटिस जारी किए गए थे। उन पर जुर्माना लगाया था, लेकिन आज तक जोहड़ की भूमि को कब्जामुक्त नहीं कराया जा सकेगा। आरोप लगाया कि जब वह शिकायत करने जाते हैं, तो ईओ डराते हैं कि ये लोग तुम्हें मरवा देंगे, इनकी शिकायत न करो। इस पर डीएम ने कड़ी नाराजगी जाहिर की।

डीएम से मिले डेयरी संचालक

नगरपालिका में पहुंचे डीएम अखिलेश सिंह से डेयरी संचालक मिले। दरअसल, नगरपालिका ने एक दर्जन से अधिक डेयरी संचालकों को नालियों में गोबर बहाने पर नोटिस जारी किए थे। डेयरी संचालकों ने डीएम से गुहार लगाई है कि उन्हें जारी किए गए नोटिस वापस कराए जाएं और ऐसी गलती वह भविष्य में नहीं करेंगे।

चेयरमैन ने डीएम को किया सम्मानित

कैराना नगरपालिका में डीएम अखिलेश सिंह बैठक करने पहुंचे। जहां बैठक के उपरांत चेयरमैन हाजी अनवर हसन ने नागरिकता संशोधन कानून पर जिले में अमन-शांति बरकरार रखने पर डीएम अखिलेश सिंह को शॉल ओढाकर सम्मानित किया। चेयरमैन ने कहा कि वह अमन-शांति बरकरार रखने के लिए जिस प्रकार सहयोग करते हैं, वैसे ही भविष्य में भी प्रशासन का सहयोग करते रहेंगे।