शामली में कोविड-19 के अंतर्गत 5 चरणों में किया गया कार्य: डीएम
August 23, 2020 • MOHD. IQBAL HASAN

कैराना/शामली। शासन के पत्र के क्रम में जिलाधिकारी जसजीत कौर ने बताया कि जनपद में कोविड-19 के अन्तर्गत 05 चरणों में कार्य किया गया है। 
           उन्होंने बताया कि प्रथम चरण में विदेशी यात्री में 24 मार्च को प्रथम पाॅजीटिव केस मिला। 29 मार्च को द्वितीय चरण मे तब्लीगी जमात का प्रथम केस पाॅजीटिव मिला। 12 अप्रैल मे तृतीय चरण में मंडी समिति से प्रथम पाॅजीटिव केस मिला। चतुर्थ चरण में प्रवासी मजदूरों में से दिनांक 24 अप्रैल को प्रथम पाॅजीटिव केस मिला। पंचम चरण जोकि 01 जून से लाॅकडाउन खुलने के बाद से प्रारम्भ हुआ है। 
       कोविड-19 से बचाव एवं रोकथाम किये जाने हेतु सेंट आर0 सी0 स्कूल, कान्वेन्ट, शामली (250 शैय्या), राजकीय महिला पाॅलीटेक्निट काॅलेज (250 शैय्या) में कोविड केयर सेन्टर की चिकित्सकीय इकाई स्थापित की गयी है एवं एल0-01 चिकित्सालय (60 शैय्या) इकाई सामु0 स्वा0 केन्द्र झिंझाना में स्थापित की गयी है। 
           उक्त के अतिरिक्त जनपद में नवनिर्मित 100 शैय्यायुक्त संयुक्त जिला चिकित्सालय में 100 शैय्यायुक्त एल0-01 इकाई एवं 100 शैय्यायुक्त एल0-02 इकाई की स्थापना प्रस्तावित है, नवनिर्मित संयुक्त जनपद चिकित्सालय में डायलेसिस मशीन, लेबर रूम एवं आॅपरेशन थियेटर बनाया जाना प्रस्तावित है जिससे जनपद के रोगियों को उपचार हेतु अन्य जनपदों में न जाना पडें। जनपद में अभी तक कुल 783 पाॅजीटिव केस प्राप्त हुए है, जिनमें से 622 केसो को स्वास्थ्य विभाग द्वारा ठीक किया जा चुका है, कुल 10 मरीजों की मृत्यु हुई है एवं 150 मरीज वर्तमान में उपचाराधीन है।                     उन्होंने आगे बताया कि जनपद में प्रतिदिन लगभग 900 कोविड जांच हेतु सैम्पल प्रत्येक ब्लाॅक स्तर से अलग अलग स्थानों से लिये जा रहे है, सैम्पल हेतु 17 टीमें वर्तमान में कार्य कर रही है। उक्त टीमों में से 05 टीमें प्रत्येक ब्लाॅक पर एवं 12 टीमें मुख्यालय स्तर से कार्य कर रही है। कोविड-19 की जांच तीन प्रकार से की जा रही है- RTPCR, ANTIGEN, TrueNat   जिसमें RTPCR सैम्पल को जांच हेतु एल0एल0आर0एम0, मेरठ भेजा जाता है एवं ANTIGEN व TrueNat सैम्पल की जांच जनपद स्तर पर की जा रही है। 
         जनपद में कोरोना वायरस के उपचार/बचाव हेतु दी जाने वाली आवश्यक दवाईयों आईवरमैक्टीन, डाॅक्सी साईक्लीन एवं हाईड्राक्सी क्लोरोक्वीन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड-19 के उपचार हेतु 10 वेन्टीलेटरों की सुविधा उपलब्ध है एवं 133 आॅक्सीजन सिलेण्डरों की व्यवस्था की गयी है। 133 आॅक्सीजीन सिलेण्डरों में से 30 डी0 टाईप एवं 103 बी0 टाईप है। 
              जनपद में ग्रामीण स्तर पर 240 निगरानी समिति एवं शहरी क्षेत्रों में 170 निगरानी समिति कार्यरत है। अभी तक कुल 41048 व्यक्तियों की निगरानी की गयी है, जिसमें से 19108 व्यक्ति वर्तमान में निगरानी में है। फैसिलिटी कोरेन्टाईन में अभी तक 552 लोगो को कोरेन्टाईन किया गया है जिसमें 42 व्यक्ति पाॅजीटिव पाये जाने के कारण एल0-01 चिकित्सालय में रेफर किया गया था। जनपद में सरकारी एवं निजी चिकित्सालयों में कुल 33 हेल्प डेस्कों की स्थापना की गयी है। जनपद में अभी तक कुल 262 कन्टेन्मेन्ट जोन बनाये जा चुके है, जिसमें से वर्तमान में 63 एक्टिव है। एल0-01 चिकित्सालय में मरीजों की सुरक्षा हेतु सी0सी0टी0वी0 कैमरों एवं मनोरंजन हेतु एल0ई0डी0 टी0वी0, कैरम बोर्ड, लूडो, शतरंज आदि की व्यवस्था की गयी है।
       उन्होंने बताया कि पिछले माह 5 जुलाई से 15 जुलाई के मध्य सम्पन्न हुए, निगरानी अभियान के तहत कुल 245637 घरों में कुल 1502962 व्यक्तियों की डोर टू डोर थर्मल स्कैनर एवं पल्स आॅक्सीमीटर से स्क्रीनिंग/जांच करायी गयी, जिनमें से संदिग्ध कुल 705 मरीजों का सैम्पल लेकर उपचार कराया गया। कोविड-19 से बचाव एवं रोकथाम हेतु जनपद में मुख्य स्थानों पर होर्डिंग लगवाये गये है एवं ई0रिक्शा के माध्यम से रोकथाम हेतु प्रचार प्रसार किया जा रहा है। कोविड-19 के उपचार एवं बचाव हेतु अस्थायी रूप सें मानव संसाधन की आपूर्ति सेवा प्रदाता एजेन्सी के माध्यम से की गयी है। स्वास्थ्य विभाग शामली कोविड-19 के रोगियों के उपचार हेतु पूर्णतया सक्षम है।