उत्तर प्रदेश पुलिस के हाथ में अब नहीं दिखाई देगी राइफल 303
January 26, 2020 • MOHD. IQBAL HASAN
कैराना(शामली)। गणतंत्र दिवस की परेड से पुलिस की राइफल 303 को अंतिम विदाई दे दी गई है। अब इसकी जगह पुलिस के हाथों में इंसास राइफल दिखाई देगी। इसकी विदाई पर पुलिस इस राइफल के साथ फोन से सेल्फी भी लेते नजर आए।            देश की सेना में पुलिस के हाथों में लंबे समय से दिखाई देने वाली 303 राइफल को 26 जनवरी की गणतंत्र दिवस की परेड से अंतिम विदाई दी गई है। अब उत्तर प्रदेश पुलिस के हाथों में इस राइफल की जगह इंसास राइफल दिखाई देगी। उत्तर प्रदेश पुलिस को आधुनिक हथियारों से लैस किया गया है, लेकिन 303 राइफल अपने समय का सबसे मजबूत व सबसे ज्यादा मारक क्षमता सबसे भरोसेमंद हथियार माना जाता है। 
     इसी राइफल से जहां अंग्रेजी हुकूमत ने अनेकों युद्ध लड़ जीत हासिल की है। तो वहीं भारतीय सेना ने चीन के साथ हुए युद्ध में इसी राइफल के साथ चीनी सेना से लोहा लिया था। इसकी मारक क्षमता लगभग 2.75 किलोमीटर बताई जाती है। इसका वजन 4.19 किलोग्राम है। इस राइफल का निर्माण 1895 सन में किया गया था। इसे जेम्स पैरिस ली एनफील्ड ने डिजाइन किया था। इसका नाम भी ली एनफील्ड कहा जाता है। यह एक कोबाल्ट राइफल है।